ZINDAGI SHAYARI

zindangi shayari

#Zaruri to nahin ki #Shayari vo hi kare jo ishq mein ho..!!
Zindagi bhi kuch zakhm bemisaal diya karte hai..!!

ज़रूरी तो नहीं कि शायरी वो ही करें जो इश्क़ में हो..!!
ज़िन्दगी भी कुछ ज़ख्म बेमिसाल दिया करती है..!!


Akele hi guzarti hai zindagi…!!
Log tasalliyan to dete hain, Par saath nahin…!!

अकेले ही गुज़रती है ज़िन्दगी..!!
लोग तसल्लियाँ तो देते है है, पर साथ नहीं..!!


 जीवन कि सुबह में कभी शाम न हो,

Jeevan ki subah mein kabhi shaam na ho, Jo mill na sake rab se, vo mang na ho..!!
Khoob chamke sitare khushiyon ki, Zindagi kabhi amavas ka chand na ho..!!

जीवन कि सुबह में कभी शाम न हो, जो मिल ना सके रब से, वो मांग न हो..!!
खूब चमकें सितारे खुशियों कि, ज़िन्दगी कभी अमावस का चाँद न हो..!!


zindangi shayari

Sahi waqt par piye gaye kadve ghoont aqsar zindagi meethe kar diya karte hain..!!

सही वक़्त पर पिए गए कड़वे घूँट अक्सर ज़िन्दगी मीठी कर दिया करते है..!!


Taqdeer badal jaati hain, Jab zindagi ka koi makasad ho…!!
Varna zindagi kat jaati hain takdeer ko illzaam dete dete…!!

तक़दीर बदल जाती है, जब ज़िन्दगी में कोई मकसद हो..!!
वर्ना ज़िन्दगी कट जाती है तकदीर को इल्ज़ाम देते देते..!!


Ye zindagi jo mujhe karzdaar karti rahi..!!
Kabhi akele mein mile to hisaab karu..!!

ये ज़िन्दगी जो मुझे कर्ज़दार करती रही..!!
कभी अकेले में मिले तो हिसाब करुँ..!!


Dheere dheere umra kat jati hain, Jeevan yaadon ki pustak ban jaati hai…!!
Kabhi kisi ki yaad bahut tadpati hain aur kabhi yaadon ke sahare zindagi kat jati hai..!!

धीरे-धीरे उम्र कट जाती है, जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है…!!
कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है तो कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है…!!


Do roz tum mere paas raho, Do roz main tumhare paas rahun….!!
Chaar din ki zindagi hai, Na tum udaas raho, Na main udaas rahun….!!

दो रोज़ तुम मेरे पास रहो, दो रोज़ मैं तुम्हरी पास रहूं…!!
चार दिन की ज़िन्दगी है ना तुम उदास रहो, ना मैं उदास रहूँ…!!


Meri zindagi mein khushiyan tere bahane se hain…!!
Aadhi tujhe sataane mein hain, Aadhi tujhe manane se hain…!!

मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से है ..!!
आधी तुझे सताने में है, आधी तुझे मनाने से है..!!


Marta nahi koi kisi ke bagair, Ye haqiqat hain zindagi ki…!!
Lekin sirf saansain lene ko jeena to nahin kahate…!!

मरता नहीं कोई किसी के बगैर, ये हकीकत है ज़िन्दगी की…!!
लेकिन सिर्फ सांसें लेने को जीना तो नहीं कहते…!!


Zindagi ek haseen khwaab hain, Jiss mein jeene ki chaahat honi chahiye,
Gum khud hi khushi mein badal jayenge sirf muskurane ki aadat honi chahiye…!!

ज़िन्दगी एक हसीं ख़्वाब है, जिसमे जीने की चाहत होनी चाहिए..!!
गम खुद ही खुशी में बदल जाएंगे, सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिए..!!


Zindagi ki zarurat samajhiye waqt kam hain, Farmaishe lambi hain…!!
Jhooth-Sach, Jeet-Haar ki baaten chodiye, Dastaan bahut lambi hain…!!

ज़िन्दगी के जरूरतें समझिए वक्त कम है, फरमाईशें लम्बी हैं..
झूठ-सच, जीत-हार की बातें छोड़िये, दास्ताँ बहुत लम्बी है ..!!


Kuch zaruratein puri to kuch khwahishein adhuri, In sawalon ka jawab hai zindagi..!
Lamho ki khuli kitaab hai zindagi, Khayalo aur saanso ka hisab hain zindagi..!!

कुछ ज़रूरतें पूरी तो कुछ ख्वाहिशें अधूरी, इन् सवालों के जवाब है ज़िन्दगी..!!
लम्हों की खुली किताब है ज़िन्दगी, ख्यालों और साँसों का हिसाब हैं ज़िन्दगी..!!


Subah to khushnuma hi thi ye zindagi, Kyon shaam mujhe phir tanha chod gayi, Manjil dikhee hi thi, Ki phir raasta mod gayi ye zindagi ..!!

सुबह तो खुशनुमा ही थी ये ज़िन्दगी, क्यों शाम मुझे फिर तनहा छोड़ गयी,
मंज़िल दिखी ही थी, कि फिर रास्ता मोड़ गयी ये ज़िन्दगी..!!


Haath pakad kar rok lete, Agar tujh par zara bhi zor hota mera..,
Na rote ham yu tere liye, Agar hamari zindagi mein tere siva koi aur hota..!!

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर, तुझपर ज़रा भी ज़ोर होता मेरा..!!
ना रोते हम यूं तेरे लिए, अगर हमारे ज़िन्दगी में में तेरे सिवा कोई और होता..!!


Zindagi kuch iss tarah guzar rahi hai..!!
Talash hai teri aur tujhse hi bichad rahi hai..!!

ज़िन्दगी कुछ इस तरह गुज़र रही है..!!
तलाश है तेरी और तुझसे ही बिछड़ रही है…!!