MAHAKAL ATTITUDE SHAYARI

Mahakaal  Shayari

वो गुरु हैं मेरा, वो मित्र हैं मेरा,वो साथ हैं मेरा,
वो विश्वास हैं मेरा,वो मार्गदर्शक हैं मेरा,वो शासक हैं मेरा,
वो मेरा, मैं उसका, वो महाकाल हैं मेरा।!!

Wo guru hai mera,Wo mitrr hai mera,
Wo sath hai mera,Wo vishwas hai mera,wo margdarshak hai mera,
Woi shasak hai mera,wo mera,

=======================================================================

ऐ जन्नत अपनी औकात में रहना,
हम तेरी जन्नत के मोहताज नही।
हम गुरू भोलेनाथ के चरणों के वासी हैं
वहाँ तेरी भी कोई औकात नही।

Aee jannat apni aukaat mein rehna
Hum teri jannat ke mohtaz nahi
Hum guru bholenath ke chardho ke vasi hai
Waha teri bhi koi aukaat nahi

=======================================================================2 lines Shayari

करनी हैं महाकाल से गुजारिश,
Mahakal Shayari

करनी हैं महाकाल से गुजारिश,
आपकी भक्ति के बिना कोई बन्दगी ना मिले। 
हर जन्म मे मिले आप जैसा गुरूया फिर ये जिन्दगी ना मिले ले।

karni hai mahakal se guzarish,
Aapki bhakti ke bina koi bandangi na mile
har janam mein mile aap jaisa guru
Fir ye zindangi na mile

 Mahakaal Attitude Shayari

जख्म भी भर जायेगे,
Mahakaal Attitude Shayari

जख्म भी भर जायेगे,
चेहरे भी बदल जायेगे,
तू करना याद महाकाल को,
तुझे दिल और दिमाग में, सिर्फ और सिर्फ महाकाल नजर आयेगे।

Zakham bhi bhar jayege
Chehre bhi badal jayege
Tu karna yaad mahakal ko
Tujhe dil aur dimag mein
Sirf ur sirf Mahakal nazar aayege

आसमान में महाकाल हैं,जलने के बाद सब कंकाल हैं
Mahakal Shayari

आसमान में महाकाल हैं,जलने के बाद सब कंकाल हैं
उज्जैन की भस्म आरती में त्रिकाल हैं,
तभी तो मेरे हर काल को निपटाने वाले मेरे महाकाल हैं।

Aasman mein mahakal hai
Jalne ke baad sab kankaal hai
Ujjain ki bhasam aarti mein trikaal hai
Tabhi toh mere har kaal ko
Niptane wale mere mahakaal hai

Jo samay ki chaal hai
Mahakal Shayari

जो समय की चाल हैं,
अपने भक्तों की ढाल हैं,पल में बदल दे सृष्टि को,
वो महाकाल है
ना पूछो मुझसे मेरी पहचान,
मैं तो भस्मधारी हूँभस्म से होता जिनका श्रृंगार, मैं
उस महाकाल का पुजारी हूँ।

Jo samay ki chaal hai
Apne bhakto ki dhaal hai
pal mein Badal de shrasthi ko
Wo mahakaal hai na
pucho, mujhse meri pehchan ,
mai to bhasamdhari hu,
bhasam se hota jinka shngaar,
mai us mahakaal ka pujari hu

Lord-shiva-image
Attitude Mahakal Shayari

काल का भी उस पर क्या आघात हो,
जिस बंदे पर महाकाल का हाथ हो।

kaal ka bhi uss par kya aaghat ho
jis bande par mahakal ka hath ho….!!

वह अकेले ही पुरी दुनिया में मुर्दे कि भस्म से नहाते हैं,
ऐसे ही नहीं वो कालो के काल महाकाल कहलाते है

Weh akele hi puri duniya mein murde ki bhasam se nhate hai
Aise hi nahi wo kaalo ke kaal mahakaal kehlate hai………….!!

Best mahakal shayari and love status

Mai toh ek hi Rishta janta hu
Best mahakal shayari and love status

में तो एक ही रिश्ता जानता हूँ
~मन – तन वाला रिश्ता क्योकि
मेरे मन –तन में एक ही नाम रहता हें
%”शम्भुनाथ रे ओ शम्भुनाथ रे ”तोड दे दुनिया के सारे भ्रम और बरसा दे तेरी कृपा ..!!

Mai toh ek hi Rishta janta hu
~Mann – tann wala rishta kyuki
Mere mann- tann mein ek hi naam rehta hai
%” Shambhunath re o shambhunath re”
tod de duniya ke sare bhram aur barsa de teri kripa!!

Maya ko chahne wala bhikhar jata hai
Best mahakal shayari and love status

माया को चाहने वाला बिखर जाता हैं,
और महाकाल को चाहने वाला निखर जाता हैं।

Maya ko chahne wala bhikhar jata hai
Aur mahakaal ko chahne wala nikhar jata hai

Aghori hu mai, aghori mera naam,
Best mahakal shayari and love status

अघोरी हूँ मैं, अघोरी मेरा नाम, महाकाल हैं आराध्य मेरे,
और श्मशान मेरा धाम।

Aghori hu mai, aghori mera naam,
Mahakaal hai Aradhya mere,
Aur shamshan mera dhaam

Karta kare na kar sake
Best mahakal shayari and Status.

कर्ता करे न कर सकै,
शिव करै सो होय, तीन लोक नौ खंड में,
महाकाल से बड़ा न कोई
जय श्री महाकाल……………………!!

Karta kare na kar sake
Shiv kare so hoye
Tin lok no khand mein,
Mahakaal se bda na koi
Jai shri Mahakaal…………..!!!

Akaal maut wo mere.
Mahakaal shayari

अकाल मौत वो मरे,
जो काम करे चंडाल का,काल भी उसका क्या बिगाड़े,
जो भक्त हो महाकाल का।

Akaal maut wo mere
Jo kaam kare chandaal ka
Kaal bhi uska kya bigade,
Jo bhakat ho mahakaal ka

Mahakaal ka nara laga ke
Mahakaal

महाँकाल का नारा लगा के,
दुनिया में हम छा गये, दुश्मन भी छुपकर बोले
वो देखो महाँकाल का भक्त आ गया।     

Mahakaal ka nara laga ke
Duniya mein hum cha gaye,
Dushman bhi chup kar bole
Wo dekho mahakaal ka bhakat aa gya

                                                                                                                                                                                                                                  Mahakal Shayari | महाकाल शायरी 

Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
Pinterest
Linkedln
Instagram