Junoon Shayari

khvaahishon ka junoon hamen
us mod par le jaata hai !
jahaan ham kisi ka
dil dukhaane mein bhi
peechhe nahi hatate !!
ख्वाहिशों का जुनून हमें
उस मोड़ पर ले जाता है !
जहाँ हम किसी का
दिल दुखाने में भी

 

kaash..kabhi tum samajh pao…dosti ke is junoon ko,
hairaan rah jaoge, mere dil mein …apani kadar dekhakar …..!
काश..कभी तुम समझ पाओ…दोस्ती के इस जुनून को,
हैरान रह जाओगे, मेरे दिल में …अपनी कद्र देखकर …..!

 

Rasmon rivaaj ki jo paravaah karate hain,
pyaar mein vo log gunaah karate hain
ishq vo junoon hai jisamen diwane
apani khushi se khud ko tabaah karate hain.
रस्मों रिवाज की जो परवाह करते हैं,
प्यार में वो लोग गुनाह करते हैं
इश्क वो जुनून है जिसमें दीवाने
अपनी खुशी से खुद को तबाह करते हैं।

 

Fana na kar apani zindagi ko ai insaan raah -ai -joonoon mein
tab karega ibaadat jab gunaah karane ki taaqat na hogee
फ़ना न कर अपनी ज़िन्दगी को ऐ इंसान राह -ऐ -जूनून में
तब करेगा इबादत जब गुनाह करने की ताक़त न होगी